वित्तीय जागरूकता पर एक झलक (11 जून – 17 जून 2018)

प्रिय पाठक,

यहां हम अपनी बैंकिंग और वित्त जागरूकता श्रृंखला “वित्तीय जागरूकता पर एक झलक” के अगले हिस्से को साझा कर रहे हैं। भारत और दुनिया में बैंकिंग और वित्त क्षेत्र में इस सप्ताह हुई सभी महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि प्राप्त करने के लिए इसे अवश्य पढ़ें । यह आपको आगामी महत्वपूर्ण परीक्षाओं में बेहद मददगार होगा।

वित्तीय जागरूकता पर एक त्वरित नज़र

1.  कनाडा ने 44वें जी 7 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया 

  • 44 वें जी 7 शिखर सम्मेलन कनाडा के क्यूबेक, ला मालबाई में 8-9 जून 2018 को आयोजित किया गया था।
  • शिखर सम्मेलन का विषय “जलवायु परिवर्तन, महासागरों और स्वच्छ ऊर्जा पर एक साथ काम करना” है।
  • नेताओं ने हमारे महासागरों में शून्य प्लास्टिक अपशिष्ट की ओर बढ़ने और प्लास्टिक और माइक्रोप्रैस्टिक को कम करने की चुनौतियों और संभावनाओं पर चर्चा की।
  • 1981 से यह छठा शिखर सम्मेलन समय था जिसकी कनाडा ने मेजबानी की है।
  • जी 7 की घूर्णन प्रेसीडेंसी के अनुसार, अगले शिखर सम्मेलन फ्रांस (201 9), और यूएसए (2020) में आयोजित किए जाएंगे।
  • 43वें जी 7 शिखर सम्मेलन इटली में सिसिली में 2017 में आयोजित हुआ था।

 जी 7 के बारे में

  • ग्रुप ऑफ सेवन (जी 7) दुनिया की सात उन्नत अर्थव्यवस्थाओं के साथ-साथ यूरोपीय संघ और यूरोपीय आयोग का अनौपचारिक समूह है।
  • उनमें कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं।
  • जी-7 की मीटिंग वार्षिक रूप से होती है जिसकी मेजबानी रोटेशन के आधार इसके सदस्य राष्ट्र करते हैं।
  • यह इन राष्ट्रों के नेताओं को एक साथ आने और उस समय के सबसे चुनौतीपूर्ण वैश्विक मुद्दों से निपटने के लिए प्रदान करता है।

स्रोत: बिज़नेस स्टैण्डर्ड

2. न्यायमूर्ति बीएन श्रीकृष्ण की अगुआई वाली टीम आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ के खिलाफ आरोपों की जांच करेगी

  • सेवानिवृत्त सुप्रीम कोर्ट के जज न्यायमूर्ति बीएन श्रीकृष्ण आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक और सीईओ चंदा कोचर के खिलाफ कॉरपोरेट दुर्व्यवहार और प्रश्नोत्तरी के आरोपों पर आईसीआईसीआई बैंक के बोर्ड द्वारा शुरू की गई जांच का नेतृत्व करेंगे।
  • “जांच का दायरा व्यापक होगा और तथ्यों की जांच के दौरान और जहां भी वांछित, फोरेंसिक और ई-मेल समीक्षाओं और प्रासंगिक कर्मियों के बयान के रिकॉर्ड के दौरान उत्पन्न होने वाले सभी प्रासंगिक मामलों को शामिल किया जाएगा।

नोट:

  • आईसीआईसीआई बैंक के एमडी और सीईओ चंदा कोचर अपने पति दीपक कोचर की फर्म नुपावर नवीकरण के लिए दिए गए धन के बदले वीडियोकॉन समूह और एस्सार समूह को बैंक द्वारा स्वीकृत ऋणों में पूछे जाने वाले ऋणों के आरोपों के बीच रहे हैं।
  • केंद्रीय जांच ब्यूरो, आयकर विभाग और बाजार नियामक सेबी द्वारा आरोपों की भी जांच की जा रही है।

 स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

3. फिच ने घटाई एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक की रेटिंग

  • वैश्विक रेटिंग एजेंसी फिच ने जोखिम नियंत्राण व्यवस्था में खामियों के आधार पर आईसीआईसीआई बैंक तथा एक्सिस बैंक की रेटिंग घटाई है।
  • एजेंसी ने जहां एक्सिस बैंक के मामले में परिदृश्य को स्थिर से नकारात्मक किया है जबकि आईसीआईसीआई बैंक की ‘सपोर्ट रेटिंग ‘ को कम कर ‘2’ से ‘3’ कर दिया है।
  • साथ ही ‘ सपोर्ट रेटिंग फ्लोर ‘ को ‘ बीबीबी माइनस ‘ से घटाकर ‘ बीबी प्लस ‘ कर दिया है। फिच ने कहा , ‘दोनों बैंकों में जोखिम नियंत्रण को लेकर जोखिम दिखता है।
  • पूरी तरह से बैंकिंग क्षेत्र पर फिच का नकारात्मक दृष्टिकोण है। अधिकांश बैंकों ने मार्च 2018 को समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष में घाटे की सूचना दी और बड़े निजी बैंकों में कमाई भी महत्वपूर्ण दबाव में आई, एक्सिस ने अपने पहले तिमाही नुकसान की रिपोर्टिंग की।

स्रोत: द इकोनॉमिक टाइम्स

4. सरकार जुलाई में 500 करोड़ रुपये के क्रेडिट एन्हांसमेंट फंड लॉन्च करेगी 

  • सरकार बीमा और पेंशन फंड द्वारा आधारभूत संरचना निवेश की सुविधा के लिए अगले महीने 500 करोड़ रुपये का क्रेडिट एन्हांसमेंट फंड लॉन्च करने की संभावना है।
  • वित्त वर्ष 2016-17 के लिए वित्तीय बजट में पहली बार फंड की घोषणा की गई थी।
  • वित्त मंत्रालय के संयुक्त सचिव (आधारभूत संरचना, नीति और वित्त) कुमार विनय प्रताप के मुताबिक, “भारत एक समर्पित निधि लॉन्च कर रहा है, जो अगले महीने हो सकता है ताकि आधारभूत संरचना परियोजनाओं के लिए क्रेडिट वृद्धि प्रदान की जा सके जो कि जारी किए गए बांड की क्रेडिट रेटिंग को अपग्रेड करने में मदद करेगी। बुनियादी ढांचा कंपनियों और पेंशन और बीमा निधि जैसे निवेशकों से निवेश की सुविधा, “।
  • आईआईएफसीएल (इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी) द्वारा प्रायोजित फंड के प्रारंभिक कॉर्पस 500 करोड़ रुपये होंगे, और यह गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी के रूप में काम करेगा।
  • आईआईएफसीएल एनबीएफसी में 22.5% हिस्सेदारी रखेगी, जबकि एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) की सरकार ने 10% हिस्सेदारी लेने की पेशकश की है।

नोट:

  • भारत में, वर्तमान में $ 200 बिलियन की आवश्यकता के मुकाबले बुनियादी ढांचे में केवल $ 110 बिलियन का निवेश किया जा रहा है, जिससे कई विश्लेषकों को बुनियादी ढांचे घाटे वाले देश के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है।
  • वर्तमान में बुनियादी ढांचा परियोजना वित्तपोषण में से कई बैंकिंग प्रणाली द्वारा किया जाता है। लेकिन इन सभी उधारदाताओं को गैर-निष्पादित संपत्ति (एनपीए) की समस्या से जूझ रहे हैं।
  • इसलिए, निजी क्षेत्र के बुनियादी ढांचे निवेश के मोर्चे पर अधिक सक्रिय होने की आवश्यकता है। सीईएफ कॉरपोरेट बॉन्ड के माध्यम से बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए धन जुटाने के विकल्प के रूप में कार्य करेगा।

स्रोत: द टाइम्स ऑफ इंडिया

5. आरबीआई ने बैंक क्रेडिट की डिलीवरी के लिए ऋण प्रणाली पर प्रारूप दिशानिर्देश जारी किए

  • भारतीय रिज़र्व बैंक ने बैंक क्रेडिट की डिलीवरी के लिए ऋण प्रणाली पर प्रारूप दिशानिर्देश जारी किए जो निधि आधारित कार्यशील पूंजी वित्त में ऋण घटक के न्यूनतम स्तर और बड़े उधारकर्ताओं द्वारा प्राप्त की गई नकदी क्रेडिट/ओवरड्राफ्ट सीमाओं के गैर-आहरित भाग के लिए अनिवार्य क्रेडिट अंतरण कारक (सीसीएफ) निर्धारित करती हैं जिसका लक्ष्य बड़े उधारकर्ताओं के बीच क्रेडिट अनुशासन को बढ़ाना है।

 ‘ऋण घटक’ का न्यूनतम स्तर और प्रभावी तिथि

  • “बैंकिंग प्रणाली से 150 करोड़ रुपये और उससे अधिक की कुल फंड आधारित कार्यशील पूंजी सीमा वाले उधारकर्ताओं के संबंध में, 1 प्रतिशत, 2018 से 40 प्रतिशत का न्यूनतम स्तर ‘ऋण घटक’ प्रभावी होगा।
  • तदनुसार, ऐसे उधारकर्ताओं के लिए, बकाया ‘ऋण घटक’ स्वीकृत फंड आधारित कार्यशील पूंजी सीमा के कम से कम 40 प्रतिशत के बराबर होना चाहिए, जिसमें विज्ञापन क्रेडिट सुविधाएं शामिल हैं।

नकद क्रेडिट सीमा के अनचाहे हिस्से के लिए जोखिम भार

  • 1 अप्रैल, 2019 से प्रभावी, उपरोक्त बड़े उधारकर्ताओं को स्वीकृत नकद क्रेडिट / ओवरड्राफ्ट सीमाओं का अनचाहे हिस्सा, चाहे बिना शर्त रूप से रद्द करने योग्य या नहीं, 20 प्रतिशत का क्रेडिट रूपांतरण कारक आकर्षित करेगा।
  • 1 अप्रैल, 2019 से 40 प्रतिशत ऋण घटक 60 प्रतिशत तक संशोधित किया जाएगा।

स्रोत: आरबीआई

6. Fitch ने FY18-19 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर का पूर्वानुमान बढ़ाकर 7.4 फीसदी किया

  • फिच ने अपने वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में वित्तवर्ष 2018-19 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 7.3 प्रतिशत से बढ़ाकर 7.4 प्रतिशत कर दिया है।
  • फिच ने 2019-20 के लिए वृद्धि दर का पूर्वानुमान 7.5 प्रतिशत तय किया है.
  • भारतीय अर्थव्यवस्था 2017-18 में 6.7 प्रतिशत तथा जनवरी – मार्च तिमाही में 7.7 प्रतिशत की दर से बढ़ी है.
  • फिच ने कहा कि इस साल एशिया में भारतीय रुपया सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली मुद्रा रही है. हालांकि यह गिरावट 2013 के बुरे दौर की तुलना में कम है.

 नोट:

  • पिछले महीने अमेरिका स्थित मूडी ने तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए 7.5 फीसदी से 2018-19 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर को 7.3 प्रतिशत कर दिया।

स्रोत: द इकोनॉमिक टाइम्स

7. पूर्व विश्व बैंक अर्थशास्त्री उमर अल-रज्जाज ने जॉर्डन पीएम के रूप में शपथ ली

  • जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला ने एक विश्व बैंक के अर्थशास्त्री के नेतृत्व में एक नई सरकार में शपथ ली और आईएमएफ संचालित तपस्या उपायों के खिलाफ व्यापक विरोध के बाद विवादित कर प्रणाली की समीक्षा करने का आदेश दिया।
  • जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला ने देश के प्रधान मंत्री के रूप में पारंपरिक राजनीतिक अभिजात वर्ग के पद के बाहर एक हार्वर्ड-शिक्षित अर्थशास्त्री उमर अल-रज्जाज को नियुक्त किया।
    उमर अल-रज्जाज ने हानी मुलकी की जगह ली है, जिन्हें सार्वजनिक क्रोध को कम करने के लिए बर्खास्त कर दिया गया था, जो वर्षों में सबसे बड़े लोकप्रिय विरोधों में से कुछ को प्रेरित करता था।

स्रोत: चैनल न्यूज़ एशिया

8. कर्नाटक बैंक ने ‘केवल जमा कार्ड’ लॉन्च किया

  • कर्नाटक बैंक लिमिटेड ने ‘केबीएल-जमा केवल कार्ड’ लॉन्च किया है जो बैंक की 24X7 ई-लॉबी सेवाओं पर परेशानी रहित नकदी जमा लेनदेन को सक्षम बनाता है।
  • यह कार्ड विशेष रूप से बैंक के वर्तमान/ओवरड्राफ्ट ग्राहकों के लिए है। ये ग्राहक इस कार्ड का उपयोग कर बैंक के गुच्छा नोट स्वीकार्य (बीएनए) या नकद पुनर्चक्रण कियोस्क पर उच्च जमा सीमा के साथ भी नकदी जमा लेनदेन कर सकते हैं।
  • एक दिन नकदी जमा की सीमा 10 लाख रुपये है।

स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

9. विजया बैंक ने पीएफआरडीए पुरस्कार जीता

  • पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) से वित्तीय क्षेत्र 2017-2018 के लिए सार्वजनिक क्षेत्र विजया बैंक को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन सार्वजनिक क्षेत्र बैंक पुरस्कार मिला है।
  • बैंक ने अटल पेंशन योजना के तहत अच्छा प्रदर्शन किया है।
  • यह पुरस्कार दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय अटल पेंशन योजना सम्मेलन में दिया गया था।

स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

10. फिच ने एसबीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा की व्यवहार्यता रेटिंग घटाई

  • फिच रेटिंग्स ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) और बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) की व्यवहार्यता रेटिंग (वीआर) को क्रमशः BB+’ और ‘BB’ कर दिया है, जो कमजोर संपत्ति की गुणवत्ता के नकारात्मक प्रभाव के कारण उनकी कमजोर आंतरिक जोखिम प्रोफाइल और घटी कमाई के असर के चलते जोखिम में जाती प्रोफाइल को दर्शाता है।’
  • वैश्विक क्रेडिट रेटिंग एजेंसी ने एक बयान में कहा कि बैंकों के मूल पूंजी बफर भी मध्यम झटके के लिए कमजोर दिखते हैं।

 नोट:

  • व्यवहार्यता रेटिंग (वीआर) एक वित्तीय संस्थान की अंतर्निहित क्रेडिट योग्यता को मापती है और इकाई की असफल होने की संभावना पर फिच की राय को दर्शाती है।
  • एसबीआई का एक-डाउन डाउनग्रेड बैंक की कमजोर कोर पूंजीकरण को लंबे समय तक संपत्ति की गुणवत्ता की समस्याओं और कमजोर कमाई से दर्शाता है।
  • फिच ने कहा कि बीओबी का एक-डाउनग्रेड डाउनग्रेड एनपीएल और कमाई के मामले में विस्तारित वित्तीय कमजोरी से अपनी पूंजी स्थिति पर बढ़ते दबाव को दर्शाता है।

स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

11. अमेज़ॅन इंडिया ने विक्रेता उधार नेटवर्क शुरू किया

  • अमेज़ॅन इंडिया ने अपना विक्रेता ऋण नेटवर्क (एसएलएन) लॉन्च किया, जो विक्रेताओं को ई-कॉमर्स प्रमुख के मंच पर कई तृतीय पक्ष उधारदाताओं से ऋण लेने की अनुमति देगा।
  • अमेज़ॅन इंडिया ने आदित्य बिड़ला फाइनेंस, बैंक ऑफ बड़ौदा, कैपिटल फर्स्ट, कैपिटल फ्लोट, फ्लेक्सी लोन और लोनिंग प्रोग्राम के लिए यस बैंक जैसे संगठनों की भागीदारी की है।
  • “इस लॉन्च के साथ, एक विक्रेता अमेज़ॅन के विक्रेता सेंट्रल पोर्टल पर अपने अमेज़ॅन बिक्री आय को अपने ऋण खाते से जोड़कर कई ऋण प्रस्तावों को देखकर, ऋण के लिए आवेदन करना और आसान / स्वचालित ऋण चुकौती सहित सभी ऋण-संबंधी गतिविधियों को निष्पादित कर सकता है।

 नोट:

  • एसएलएन के तहत, विक्रेताओं को कई उधारदाताओं और ऋण प्रकारों (सावधि ऋण या ओवरड्राफ्ट ऋण) के साथ-साथ प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों से ऋण विकल्पों के व्यापक चयन तक पहुंच प्राप्त होगी।

स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

12. वैश्विक स्तर पर एचडीएफसी पांचवीं सबसे बड़ी उपभोक्ता वित्तीय सेवा कंपनी: फोर्ब्स

  • फोर्ब्स पत्रिका द्वारा संकलित सूची में ‘उपभोक्ता वित्तीय सेवा श्रेणी’ में आवास वित्त प्रमुख एचडीएफसी को वैश्विक स्तर पर 5 वीं सबसे बड़ी सार्वजनिक कंपनी के रूप में स्थान दिया गया है।
  • अमेरिकन एक्सप्रेस इस श्रेणी में सबसे ऊपर है, जबकि इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस सूची में एकमात्र अन्य भारतीय कंपनी (13 वें स्थान पर) है।
  • उपभोक्ता वित्तीय सेवा श्रेणी में, एचडीएफसी का रैंक पिछले साल 7 वां स्थान से बढ़ गया है।
  • सूची में बने अन्य उपभोक्ता वित्तीय सेवाओं की कंपनियों में 159 स्थान पर कैपिटल वन फाइनेंशियल, वीजा (164), ओरिएंक्स (254), पेपैल (337), सिंक्रोनि फाइनेंशियल (340), डिस्कवर फाइनेंशियल सर्विसेज (356), और मास्टरकार्ड (367), दूसरों के बीच।
  • चीन की बैंकिंग बीमियोथ आईसीबीसी की शीर्ष सूची में एचडीएफसी ने 321 वें स्थान पर एक साल पहले 404 वें स्थान पर थे।
  • दुनिया भर से 2,000 फर्मों की कुल सूची में कुल 58 भारतीय कंपनियां हैं।
  • इनमें 83 वें स्थान पर रिलायंस इंडस्ट्रीज शामिल हैं, जो शीर्ष 100 में भारत से ही हैं। इसके अलावा, एचडीएफसी बैंक 202 वें, ओएनजीसी 266 वें, इंडियन ऑयल 270 वें और आईसीआईसीआई बैंक 320 वें स्थान पर है।
  • कुल सूची में कुछ अन्य भारतीय कंपनियों में टाटा मोटर्स 385 वें स्थान पर, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (404), लार्सन एंड टुब्रो (471) और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (48 9) शामिल हैं।
  • 16 वीं वार्षिक फोर्ब्स ग्लोबल 2000 सूची में 60 देशों की सार्वजनिक रूप से व्यापार वाली कंपनियां शामिल हैं।

 स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

13. यस बैंक ने राणा कपूर को 3 साल के लिए एमडी और सीईओ के रूप में फिर से नियुक्त किया

  • निजी क्षेत्र के ऋणदाता यस बैंक ने राणा कपूर को बैंक के एमडी और सीईओ के रूप में तीन साल की अवधि के लिए फिर से नियुक्त किया है।
  • निर्णय बैंक के शेयरधारकों की 14 वीं वार्षिक आम बैठक में लिया गया था।
  • बैंक ने कहा, “भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा अंतिम मंजूरी के अधीन 1 सितंबर, 2018 से तीन साल की अवधि के लिए पुन: नियुक्ति प्रभावी होगी।”

स्रोत: द हिंदू-बिजनेस लाइन

14. मॉरीशस,11 वीं विश्व हिंदी सम्मेलन की मेजबानी करेगा 

  • 11 वें विश्व हिंदी सम्मेलन मॉरीशस के पोर्ट लुइस में आयोजित किया जाएगा।
  • सम्मेलन का विषय “वैश्विक हिंदी और भारतीय संस्कार” होगा।
  • सम्मेलन की तिथियां 18-20 अगस्त हैं और यह स्वामी विवेकानंद अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में आयोजित की जाएंगी।
  • सम्मेलन का लक्ष्य भाषा के योगदान के लिए दुनिया के विभिन्न हिस्सों से कई हिंदी विद्वानों, लेखकों और विजेताओं को आम मंच प्रदान करना है।
  • विश्व हिंदी सम्मेलन विदेश मंत्रालय द्वारा हर तीन वर्षों में आयोजित हिंदी भाषा को समर्पित एक प्रमुख कार्यक्रम है।
  • पिछला सम्मेलन 2015 में भोपाल में आयोजित किया गया था।

नोट:

  • पहला विश्व हिंदी सम्मेलन 1 9 75 में नागपुर, भारत में आयोजित किया गया था और इसका उद्घाटन भारत के तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने किया था। तब से, दुनिया के विभिन्न हिस्सों में दस ऐसी सम्मेलन आयोजित की गई हैं।

स्रोत: एएनआई

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s

A WordPress.com Website.

Up ↑