महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संगठन भाग -2

प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में, अंतर्राष्ट्रीय संगठन से कई प्रश्न आते हैं हमने पिछले लेख में कुछ अंतरराष्ट्रीय संगठन को कवर किया है इसलिए, इस लेख में, हम शेष संगठन के साथ जारी रखेंगे।

महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संगठन भाग -2

यूरोपीय संघ

स्‍थापना  1 नवम्‍बर 1993
मुख्‍यालय ब्रुसेल्‍स, बेल्‍जियम
सदस्‍य 28 यूरोपीय देश
टिप्‍पणी  

मास्ट्रिच की संधि ने 1992 में यूरोपीय संघ की स्थापना की। हाल ही में यूनाइटेड किंगडम ने यूरोपीय संघ से बाहर निकलने की प्रक्रिया शुरू की है।

प्रमुख यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष- डोनाल्ड फ्रांसिसज़र टस्क

यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष- जीन क्लाउड जंकर

दक्षिण-पूर्वी एशियाई राष्‍ट्रों का संघ(आसियान)

स्‍थापना  1967
मुख्‍यालय जकार्ता, इंडोनेशिया
सदस्‍य इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर और थाईलैंड (संस्थापक सदस्य), ब्रुनेई, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार और वियतनाम।
टिप्‍पणी  

आसियान अपने सदस्‍यों के बीच और एशियाई राज्यों में एशियाईवाद और अंतरसरकारी सहयोग को बढ़ावा देता है और आर्थिक, राजनीतिक, सैन्य, शैक्षणिक और सांस्कृतिक एकीकरण की सुविधा देता है।

प्रमुख अध्‍यक्ष- रॉड्रिगो ड्यूटेटे,

महासचिव- ले लुओंग मिन्‍ह

सार्क

स्‍थापना 1985
मुख्‍यालय काठमांडू(नेपाल)
सदस्‍य अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान और श्रीलंका
टिप्‍पणी  संगठन आर्थिक और क्षेत्रीय एकीकरण के विकास को बढ़ावा देता है। इसने 2006 में दक्षिण एशियाई मुक्त व्यापार क्षेत्र का शुभारंभ किया।
प्रमुख अमजद हुसैन बी सिआल (महासचिव)

बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम(बिम्‍सटेक)

स्‍थापना 1997
मुख्‍यालय ढ़ाका, बांग्‍लादेश
भारत और बिम्‍सटेक बांग्लादेश, भारत, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, भूटान और नेपाल
टिप्‍पणी बिम्सटेक राष्‍ट्र बंगाल की खाड़ी पर निर्भर देशों में से हैं।

शंघाई सहयोग संगठन(एससीओ)

स्‍थापना 15 जून 2001
मुख्‍यालय बीजिंग, चीन
सदस्‍य  चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, और उजबेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान

उत्‍तर अटलांटिक संधि संगठन(नाटो)

स्‍थापना 4 अप्रैल 1949
मुख्‍यालय ब्रुसेल्‍स, बेल्‍जियम
प्रमुख जनरल पेट्र पावेल, चेक लैंड फोर्स
सदस्‍य नाटो एक ऐसा गठबंधन है जिसमें उत्तर अमेरिका और यूरोप के 29 स्वतंत्र सदस्य देश शामिल हैं।
टिप्‍पणीं नाटो सामूहिक रक्षा की एक प्रणाली का गठन करता है जिसमें उसके सदस्य देश किसी भी बाहरी हमले के जवाब में आपसी रक्षा के लिए सहमत होते हैं। तीन नाटो सदस्य (संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस और यूनाइटेड किंगडम) वीटो की शक्ति के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य हैं और आधिकारिक तौर पर परमाणु हथियार वाले राज्य हैं।
प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग (महासचिव)

परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी):

स्‍थापना 1974
भारत और एनएसजी भारत एनएसजी का सदस्‍य नहीं है
सदस्य देश 48
एनएसजी के बारे में महत्‍वपूर्ण तथ्‍य
  • यह परमाणु आपूर्तिकर्ता देशों का एक समूह है जो परमाणु हथियारों के निर्माण के लिए इस्तेमाल की जा सकने वाली सामग्रियों, उपकरणों और तकनीक के निर्यात को नियंत्रित करके परमाणु प्रसार को रोकने की कोशिश करता है।
  •  इसे लंदन समूह या लंदन आपूर्तिकर्ता समूह के रूप में भी जाना जाता है।

अंतर्राष्‍ट्रीय न्‍यायालय(आईसीजे):

स्‍थापना 1945
मुख्‍यालय हेग, नीदरलैंड
भारत और आईसीजे भारत आईसीजे का सदस्‍य है।
आईसीजे के बारे में महत्‍वपूर्ण तथ्‍य न्यायालय की अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र के अंगों और विशिष्ट एजेंसियों द्वारा विधिवत अधिकृत राज्यों (विवादास्पद मामलों) द्वारा प्रस्तुत कानूनी विवादों और कानूनी सवालों पर सलाहकार राय देने के लिए (सलाहकार की कार्यवाही) एक दोहरी भूमिका है।
अध्‍यक्ष जॉनी अब्राहम

सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन

स्‍थापना 15 मई 1992 (सामूहिक सुरक्षा संधि के रूप में)

7 अक्टूबर 2002 (सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन के रूप में)

मुख्‍यालय मॉस्‍को, रूस
प्रमुख यूरी खाचातुरोव
सदस्‍य 6 सदस्‍य और 2 पर्यवेक्षक

यहां पढ़ें

अंतर्राष्ट्रीय संगठन भाग -1

 

Advertisements

One thought on “महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संगठन भाग -2

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

A WordPress.com Website.

Up ↑